Picture1HPicture2HPicture3HPicture4HPicture5HPicture6HPicture7HPicture8HPicture9HPicture10HPicture11H


प्लाज़्मा अनुसंधान संस्थान, प्लाज़्मा विज्ञान के विभिन्न पक्षों, जिसमें मौलिक प्लाज़्मा भौतिकी, चुम्बकीय परिसीमित तापीय प्लाज़्मा तथा औद्योगिक प्रयोग के लिए प्लाज़्मा तकनीकियाँ शामिल है, का अनुसंधान करने वाला भारत में एक प्रमुख अनुसंधान संस्थान है। इसके अतिरिक्त संस्थान में अभी स्थिर अवस्था सुपरकंडक्टिंग टोकामक (SST-1) के निर्माण की प्रक्रिया प्रगति पर है। साथ ही यह संस्‍थान अंतर्राष्‍ट्रीय इटर परियोजना में भागीदार भी है।